गुरुवार, 13 जनवरी 2011

त्योहार

लोहड़ी और मकर संक्रांति के अवसर पर आपको हार्दिक शुभकामनाएं
चाहिए की प्रेम बयार बहे
ना बैर भाव आपस में रहे
हर दिल में चैन करार बसे
जब शांति और सद्भाव बढे
मानवता एक धर्म रहे
क्या लोहड़ी
क्या संक्रांति
तब हर दिन ही त्योहार मने ||

6 Comments:

Dr Varsha Singh said...

हर शब्द में गहराई, बहुत ही बेहतरीन प्रस्तुति ।
लोहड़ी और मकर संक्रांति के अवसर पर आपको भी हार्दिक शुभकामनाएं .

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

सुंदर रचना ..... आपको भी शुभकामनायें.....

चैतन्य शर्मा said...

सक्रांति ...लोहड़ी और पोंगल....हमारे प्यारे-प्यारे त्योंहारों की शुभकामनायें आपको भी

ZEAL said...

.

हर दिल में चैन करार बसे
जब शांति और सद्भाव बढे...

A beautiful dream ! I wish it to come true .

Thanks.

.

madansharma said...

इतनी महंगाई में हर रोज त्योहार! अरे भाई कुछ गरीबों का भी तो ख्याल कीजिये

madansharma said...

बहुत ही बेहतरीन प्रस्तुति ।
आपको भी शुभकामनायें

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट