शुक्रवार, 23 मई 2008

अमन

हो अमन की शुरुआत
एक नया प्रभात
हर चेहरे पर मुस्कान
भविष्य में हो पूर्ण
दिल का हर अरमान॥

1 Comment:

roopchand said...

Hello Sir !!!!!!!!!!!!
how r U ? What r U doing these days ? Post ur new poems on this .
Happy new Year 2009
To all the member of your family

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट